CUANA

News

Maize or CORN crop Harvesting by Tractor Thresher Machine in rural agriculture India मक्का

Maize or CORN crop Harvesting by Tractor Thresher Machine in rural agriculture India मक्का

CORN Harvesting in Rural Maharashtra by Tractor Thresher Machine .
Thanks to Tractor Thresher MachineMaize (/ˈmeɪz/ mayz; Zea mayssubsp. mays, from Spanish: maízafter Taíno mahiz), also known as corn, is a large grain plant first domesticated by indigenous peoples in Mexico about 10,000 years ago. The six major types of corn are dent corn, flint corn, pod corn, popcorn, flour corn, and sweet corn.
The leafy stalk of the plant produces separate pollen and ovuliferous inflorescences or ears, which are fruits, yielding kernels(often erroneously called seeds). Maize kernels are often used in cooking as a starch.
Most historians believe maize was domesticated in the Tehuacan Valley of Mexico.Recent research modified this view somewhat; scholars now indicate the adjacent Balsas River Valley of south-central Mexico as the center of domestication.
The Olmec and Mayans cultivated maize in numerous varieties throughout Mesoamerica, cooked, ground or processed through nixtamalization. Beginning about 2500 BC, the crop spread through much of the Americas.The region developed a trade network based on surplus and varieties of maize crops.
After European contact with the Americas in the late 15th and early 16th centuries, explorers and traders carried maize back to Europe and introduced it to other countries. Maize spread to the rest of the world because of its ability to grow in diverse climates. Sugar-rich varieties called sweet corn are usually grown for human consumption as kernels, while field corn varieties are used for animal feed, various corn-based human food uses (including grinding into cornmeal or masa, pressing into corn oil, and fermentation and distillation into alcoholic beverages like bourbon whiskey), and as chemical feedstocks.
An influential 2002 study by Matsuoka et al. has demonstrated that, rather than the multiple independent domestications model, all maize arose from a single domestication in southern Mexico about 9,000 years ago. The study also demonstrated that the oldest surviving maize types are those of the Mexican highlands. Later, maize spread from this region over the Americas along two major paths. This is consistent with a model based on the archaeological record suggesting that maize diversified in the highlands of Mexico before spreading to the lowlands.मक्का (वानस्पतिक नाम : Zea mays) एक प्रमुख खाद्य फसल हैं, जो मोटे अनाजो की श्रेणी में आता है। इसे भुट्टे की शक्ल में भी खाया जाता है।

भारत के अधिकांश मैदानी भागों से लेकर २७०० मीटर उँचाई वाले पहाडी क्षेत्रो तक मक्का सफलतापूर्वक उगाया जाता है। इसे सभी प्रकार की मिट्टियों में उगाया जा सकता है तथा बलुई, दोमट मिट्टी मक्का की खेती के लिये बेहतर समझी जाती है। मक्का एक ऐसा खाद्यान्न है जो मोटे अनाज की श्रेणी में आता तो है परंतु इसकी पैदावार पिछले दशक में भारत में एक महत्त्वपूर्ण फसल के रूप में मोड़ ले चुकी है क्योकि यह फसल सभी मोटे व प्रमुख खाद्दानो की बढ़ोत्तरी दर में सबसे अग्रणी है। आज जब गेहूँ और धान मे उपज बढ़ाना कठिन होता जा रहा है, मक्का पैदावार के नये मानक प्रस्तुत कर रही है जो इस समय बढ्कर 5.98 तक पहुँच चुका है।

यह फसल भारत की भूमि पर १६०० ई० के अन्त में ही पैदा करना शुरू की गई और आज भारत संसार के प्रमुख उत्पादक देशों में शामिल है। जितनी प्रकार की मक्का भारत में उत्पन्न की जाती है, शायद ही किसी अन्य देश में उतनी प्रकार की मक्का उत्पादित की जा रही है। हा यह बात और है कि भारत मक्का के उपयोगो मे काफी पिछडा हुआ है। जबकि अमरीका में यह एक पूर्णतया औद्याोगिक फसल के रूप में उत्पादित की जाती है और इससे विविध औद्याोगिक पदार्थ बनाऐ जाते है। भारत में मक्का का महत्त्व एक केवल खाद्यान्न की फसल के रूप मे जाना जाता है। सयुक्त राज्य अमरीका मे मक्का का अधिकतम उपयोग स्टार्च बनाने के लिये किया जाता है।

भारत में मक्का की खेती जिन राज्यों में व्यापक रूप से की जाती है वे हैं – आन्ध्र प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, राजस्थान, उत्तर प्रदेशइत्यादि। इनमे से राजस्थान में मक्का का सर्वाधिक क्षेत्रफल है व आन्ध्रा में सर्वाधिक उत्पादन होता है। परन्तु मक्का का महत्व जम्मू कश्मीर, हिमाचल, पूर्वोत्तर राज्यों, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ, महाराष्ट्र, गुजरात व झारखण्ड में भी काफी अधिक है।